बिलासपुर । कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने आज समय सीमा की बैठक में जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में मल्टी एक्टिविटी सेंटर विकसित करने के निर्देश दिए। उन्होंने विकासखण्ड बिल्हा के सेलर एवं धौरामुड़ा ग्राम पंचायत मंे प्रस्तावित कार्याें की सराहना करते हुए इसी प्रकार अन्य ग्राम पंचायतों में भी मल्टी एक्टिविटी सेंटर बनाने कहा। गोधन न्याय योजना के कार्याें में प्रगति लाने कहा। उन्होंने स्व सहायता समूहों को अधिक से अधिक वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए प्रोत्साहित करने कहा।

मंथन सभाकक्ष में आयोजित समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने गौठान निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने अपूर्ण गौठानों को जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सभी एसडीएम को गौठानों का सतत् निरीक्षण करने कहा। स्व सहायता समूहों को वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए लगातार प्रोत्साहित करने एवं उनकी हर संभव मदद करने भी कहा। कलेक्टर ने वर्मी कम्पोस्ट खाद की आकर्षक पैकेजिंग एवं मार्केटिंग पर भी जोर दिया। डाॅ. मित्तर ने कहा कि जैविक खाद की उपयोगिता को बढ़ावा देने के लिए स्व सहायता समूहों से ही आवश्यकतानुसार विभाग खाद की खरीदी करें। धान संग्रहण केन्द्रों में बनाये जा रहे चबूतरा निर्माण की समीक्षा करते हुए कहा कि यह शासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। उन्होंने अपूर्ण चबूतरों का निर्माण जल्द करने के निर्देश दिए। नगरीय निकायों को नगरीय क्षेत्रों में अलाव जलाने के भी निर्देश दिए।
कलेक्टर ने धान खरीदी, बारदानों की स्थिति, लोक सेवा गारंटी, मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना एवं टीएल के लंबित आवेदनों की समीक्षा की। बैठक में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री बी.एस.उईके, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, नगर निगम के कमिश्नर श्री प्रभाकर पाण्डेय, सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here