तहसीलदार हटाओ कोटा बचाओ नारे के साथ प्रेस क्लब कोटा सहित पत्रकार-संगठनो ने तहसीलदार प्रमोद गुप्ता के खिलाफ किया गया एकदिवसीय धरना-प्रदर्शन ।

Spread the love

 

  • कोरोना कॉल को देखते हुए अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन को एकदिवसीय-धरना प्रदर्शन में परिवर्तित किया गया।
  • धरना-स्थल पर पूर्व सीबीआई-जज प्रभाकर ग्वाल सहित ग्रामीण-क्षेत्र के पत्रकार साथी भी कोटा-तहसीलदार के खिलाफ धरने में शामिल हुए।

 

बिलासपुर -कोटा प्रेस क्लब के पदाधिकारियो-सदस्य गण सहित इलेक्ट्रॉनिक-प्रिंट वेब-पोर्टल के ग्रामीण क्षेत्रों के पत्रकार सहित बिलासपुर जिला के पत्रकार-संगठन के पदाधिकारियों की उपस्थिति में आज सोमवार को दोपहर 01बजे से लेकर 04 बजे तक विवादस्पद कोटा तहसीलदार प्रमोद गुप्ता के क्रियाकलापों के खिलाफ निलंबन की कार्यवाही सहित उनके द्वारा किए जा रहे, विभागीय भ्रष्टाचार की जांच को लेकर कोटा-एसडीएम कार्यालय के सामने एकदिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया, कोटा-प्रेस क्लब के धरना-प्रदर्शन के दौरान ही सीबीआई के पूर्व न्यायाधीश प्रभाकर ग्वाल जी भी अचानक अपना समर्थन देने पहुचे, पूर्व सीबीआई-न्यायाधीश ने धरना-स्थल में अपने विचार प्रगट किए,अपनी बेबाक बातों के लिए जाने जाने वाले पूर्व न्यायाधीश ने कोटा तहसीलदार प्रमोद गुप्ता सहित वर्तमान समय मे शासन सहित प्रशासनिक-अधिकारियों की कार्यशैली पर भी सवाल उठाया, उन्होंने कहा कि वर्तमान समय मे अधिकतर प्रशासनिक-कार्यालयो में भ्रष्टाचार अपनी चरम पर है, प्रशासनिक-अधिकारी खुलेआम रिश्वतखोरी कर रहे हैं, बेलगहना-नगोई के अधिवक्ता दिलहरण यादव के परिवार के बच्चे की पानी मे डूबकर मौत के बाद शासन द्वारा मुआवजा राशि प्रकरण पर कोटा-तहसीलदार द्वारा बाबू के माध्यम से खुलेआम घूसखोरी के मामले पर पूर्व सीबीआई जज काफी आक्रोशित नजर आए, उन्होंने शासन के मातहत उच्च-अधिकारियो को त्वरित तौर पर कोटा-तहसीलदार सहित कार्यालय में पदस्थ बाबू के खिलाफ निलबंन की कार्यवाही करते हुए इनके खिलाफ विभागीय-जांच करने की मांग कर डाली।

*एकदिवसीय धरने में अपना समर्थन देने पहुचे बिलासपुर से पत्रकार संगठन के पदाधिकारी सहित पत्रकार साथी:—*


कोटा-प्रेस क्लब के द्वारा धरना-प्रदर्शन के बीच दोपहर बाद बिलासपुर पत्रकार संगठन अखिल-भारतीय-पत्रकार सुरक्षा-समिति के प्रदेश-अध्यक्ष गोविंद शर्मा व महासचिव राकेश सिंह परिहार भी धरने में पहुचकर कोटा प्रेस के पत्रकारों का हौसला बढ़ाया जिसके बाद गोविंद शर्मा जी ने कोटा-तहसीलदार प्रमोद गुप्ता के क्रियाकलापों पर सवाल उठाते हुए, जिला-प्रशासन से इंनके फौरी तौर पर निलबंन की कार्यवाही सहित कोटा तहसीलदार के खिलाफ विभागीय-जांच के आदेश की मांग रखी, कोटा-तहसीलदार प्रमोद गुप्ता के खिलाफ इससे पूर्व भी पत्रकारों से निर्वाचन कार्य के कवरेज के दौरान किए गए, दुर्व्यवहार के मामले में जनवरी माह में प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम कोटा को सौपे ज्ञापन का भी हवाला देते हुए याद दिलाया, साथ ही आज एसडीएम कोटा को जिला-कलेक्टर के नाम सौपे गए ज्ञापन के माध्यम से कार्यवाही को लेकर 01हफ्ते की समय-सीमा दी गई है, निलंबन की कार्यवाही नही होने की दशा में जिला-स्तरीय से लेकर राजधानी में धरना-प्रदर्शन करने की बात कही गई।


शाम को 04 बजे के लगभग धरना-स्थल से कोटा तहसील प्रांगण में पहुचकर तहसीलदार के खिलाफ तहसीलदार हटाओ, कोटा-बचाओ, पत्रकार-एकता जिंदाबाद के नारे के साथ कोटा प्रेस के पत्रकारों सहित पत्रकार-संगठन के पदाधिकारियों के द्वारा एसडीएम कोटा आनंद रूप तिवारी को जिला कलेक्टर के नाम सौपे ज्ञापन में त्वरित-तौर से कोटा तहसीलदार प्रमोद गुप्ता के खिलाफ निलंबन की कार्यवाही करने की मांग की गई, एसडीएम कोटा को ज्ञापन सौपने के दौरान बिलासपुर से श्रमजीवी-पत्रकार-कल्याण संघ के पदाधिकारी देवदत्त तिवारी जी तपन दादा, ने भी पहुचकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई आज के धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम में कोटा प्रेस क्लब के पदाधिकारियों व सदस्यों में प्रेस क्लब कोटा संरक्षक संजीव शुक्ला, अध्यक्ष डब्बू ठाकुर, उपाध्यक्ष मोहम्मद जावेद खान, सचिव रमेश भट्ट कोषाध्यक्ष प्रेम सोमवंशी, कार्यकारिणी सदस्य गण, सूरज गुप्ता, विकास तिवारी, साकेत शुक्ला, संजय बंजारे, आर.डी. गुप्ता, प्रदीप गुप्ता, प्रणय गुप्ता, हरीश तुलस्यान, रामनारायण यादव (नंदू), आकाश गुप्ता, अक्षत सिंह ठाकुर बिलासपुर से, ग्रामीण क्षेत्रों के पत्रकार साथी में प्रमोद शुक्ला, मनहरण कश्यप जितेंद्र भास्कर, होरीलाल यादव, गिरीश राज, की उपस्थिति रही, उसके अलावा किसी कारण वश धरने में अनुपस्थित रहे पत्रकार बंधुओ में वरिष्ठ पत्रकार राकेश शर्मा जी, नवभारत से पत्रिका के अंकित सोनी, छत्तीशगढ़ वॉच के हरीश चौबे, दबंग लाइव के आनंद अग्रवाल, बीसीसी न्यूज से रोहित साहू सहित अन्य पत्रकारों ने भी धरना प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया, उसके अलावा धरना-प्रदर्शन स्थल पर कुछ राजनीतिक-दलों के नेताओं सहित कुछ जनप्रतिनिधियों सहित अधिवक्ताओं ने भी आकर अपना समर्थन दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Live Updates COVID-19 CASES