बिलासपुर – कोटा अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत गोबरीपाट स्थित बजरंग चौक के पास कोटा एसडीएम आनंद रूप तिवारी के द्वारा अवैध रूप से मुरुम लोडकर जा रहे एक टैक्टर पर की गई कार्यवाही करते हुए कोटा थाने को सुपुर्द कर दिया।

ग्राम पंचायत गोबरीपाट स्थित बजरंग चौक के पास अवैध रूप से मुरुम लोडकर जा रहे एक टैक्टर पर एसडीएम की नजर पड़ी जिसको रोककर ट्रेक्टर चालक से पूछताछ करने के बाद sdm कोटा ने जप्ती की कार्यवाही करते हुए कोटा पुलिस के सुपुर्द कर दिया है। खनिज अधिनियम के तहत कार्यवाही किया गया ।
ट्रेक्टर चालक ने sdm आनंद रूप तिवारी के पूछ ताछ में बताया कि ग्राम पंचायत नेवसा के सचिव लव कुमार जायसवाल और सरपंच अजीत मरावी के कहने पर ग्राम पंचायत लिटिया में किसी मैदान की समतली कारण करने के लिए ले जाने की बात कही गई। ग्राम पंचायत नेवसा सचिव लव जायसवाल व सरपंच की ग्राम सभा में आपसी सहमति बनाकर एक पर्ची  से बाजार हाट में वसूली करने वाले रसीद को रियालटी बना कर वहाँ के वार्ड पंच को बैठा दिया गया है।

पहाड़ से अवैध मुरुम खनन कर दूसरे पंचायतों में बेचे जाने की बात कही। और बाकायदा ग्राम पंचायत के द्वारा  रियालटी बनाकर मुरुम खनन का 150 रुपये पर एक ट्रीप के हिसाब से लिया जा रहा है। शासन को ग्राम पंचायत सरपंच सचिव के द्वारा लाखो रुपये का चुना लगाया जा रहा । सूत्रो से  प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत लिटिया में अवैध मुरुम 100-150 टैक्टर से भी अधिक ग्राम पंचायत सचिव के कहने पर किया जा रहा।

इस मामले में ग्राम पंचायत नेवसा सचिव लव कुमार जायसवाल से फोन से जानकारी लेने पर उसका कहना था कि पहाड़ खोदे या कुछ भी आप लोगो को क्या मतलब है,वहाँ जाने के लिए कौन बोला है। पंचायत से सहमति के बाद किया जा रहा है उत्खनन ।बहरहाल देखने वाली बात है कि राजस्व का चुना लगाने वाले जिम्मेदार पंचायत सचिव व सरपंच पर खनिज विभाग क्या कार्यवाही करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here