मस्तूरी -संवाददाता रघु यादव,

बिलासपुर- मस्तूरी जनपद पंचायत से महज 2 किलोमीटर दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत वेद परसदा में रोजगार सहायिका के उपर मनमानी और लापरवाही का आरोप लगा  है। मनरेगा में काम किए हुए मजदूरों के भुगतान में गड़बड़ी करना व जनपद कार्यालय से कुछ भी काम करवाने की ऐवज में लोगों से पैसे की मांग करना ग्राम पंचायत वेद परसदा के रोजगार सहायिका पर।मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत वेद परसदा में आदर्श गौठान का निर्माण हुआ जिसमें कई महिला समूहों के मजदूरी भुगतान में गड़बड़ी करने की बात सामने आई है। जिसमें महिला समूह के खाते में पैसा ना डलवा कर अपने निजी रिश्तेदारों के खाते में पैसा डलवा कर उनके मजदूरी भुगतान को गड़बड़ी करने का आरोप लगाते हुए ग्राम पंचायत वेद परसदा के गौरा गौरीमहिला समूह ने रोजगार सहायिका को हटाने लिखित जनपद पंचायत सीईओ को आवेदन दिया है।

साथ ही ग्राम पंचायत के नेतराम पटेल ने भी लिखित में जनपद सीओ को आवेदन दिया है कि भूमि समतलीकरण के नाम से दो किस्तों में रोजगार सहायीका निलोतमा देवी मानिकपुरी ने₹7500 की घूस लेने की शिकायत है जिसकी शिकायत जनपद सीईओ से भी किया गया है।साथ ही ग्राम पंचायत के कुछ महिला समूह ने यह भी आरोप लगाया है कि आवास निर्माण के नाम पर एवं उसके पंजीयन करवाने के नाम पर रोजगार सहायिका के द्वारा ₹10,000 रु, कभी मांग किया जा रहा है। अब देखना यह होगा कि जनपद पंचायत मस्तूरी के नए सीईओ कुमार सिंह लहरें जो मस्तूरी जनपद के कार्य को टॉप पोजीशन पर लाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं उसे इसकी जानकारी होने के बावजूद इस विषय पर कितने तेजी से जांच करवाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here