प्लास्टिक चावल की अफवाह, जांच में पहुंचे अधिकारी, कहा कुपोषण से बचाएगा फोर्टिफाइड चावल

🇮🇳उमलेश जायसवाल की रिपोर्ट -✍️🇮🇳

बेलतरा – बेलतरा सोसायटी में कोरबा से आए फोर्टिफाइड चावल (पोषणयुक्त चावल) का वितरण शुरू किया गया हैं। यह चावल लोगों को कुपोषण से बचाएगा। लेकिन गांव में लोग यह बात मानने काे तैयार नहीं हैं। सरकारी सस्‍ते चावल के वितरण का वे लोग विरोध कर रहे हैं। ग्राम के लोग इस चावल को प्‍लास्टिक से तैयार किया गया बता रहे हैं। बेलतरा गांव के लोगों ने प्लास्टिक चावल वितरण का आरोप लगाकर उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग तक कर दिया। जिसका संज्ञान लेकर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग अधिकारियों ने लोगो को जागरूक करने व निरीक्षण के लिए बेलतरा सोसायटी पहुचे।

सोशल मिडिया में राशन दुकान से प्लास्टिक चावल मिलने की भ्रामक खबर के चलते मंगलवार को खाद्य व औषधि विभाग के फ़ूड इंस्पेक्टर ओंकार सिंह ठाकुर के नेतृत्व में गुणवत्ता निरीक्षण की टीम के साथ बेलतरा पीडीएस में ग्रामीणों के सामने चावल की जांच किये। जाँच पश्चात ठाकुर ने कहा कि प्लास्टिक चावल मिलने की भ्रामक अफवाह फैलाया गया है, जिस पर ध्यान न दें। ऐसी कोई बात नहीं है। कही भी इस बात की पुष्टी नहीं हुई है कि प्लास्टिक का चावल मिला हो। लोग ऐसे भ्रामक बातों से बचें।

फ़ूड इंस्पेक्टर ग्रामीणों को फोर्टिफाइड राइस का मतलब समझाते हुए कहा क़ि इसमें आयरन, विटामिन बी-12, फॉलिक एसिड जैसे पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में होते हैं। यानी इस चावल का सेवन करने वाले लोग कुपोषण का शिकार नहीं होंगे। फोर्टिफाइड चावल में जरूरी सूक्ष्म पोषक तत्व, विटामिन और खनिज की मात्रा को कृत्रिम तरीके से बढ़ाया जाता है। इस प्रक्रिया में चावल की पोषण गुणवत्ता में सुधार लाया जाता है। चावल का फोर्टिफिकेशन, चावल में आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ाने और चावल की पोषण गुणवत्ता में सुधार करने का बेहतरीन तरीका है। जिले में वितरण होने वाले चावल के सापेक्ष 15 प्रतिशत फोर्टिफाइड राइस (पोषण युक्त चावल) का वितरण किया जा रहा है। जिसे लोग प्लास्टिक का चावल समझ रहे हैं। इसके लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। यह सबसे बेहतर पोषण युक्त चावल है। इसलिए अफवाह में न पड़ें। किसी कार्डधारक को घबराने की जरूरत नहीं है। बिना अफवाह में पड़े राशन ले जाएं और उसका सेवन करें। यह चावल महिलाओं व बच्चों के लिए बहुत लाभकारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here