चिटफंड के मामले में बिलासपुर जिले में लगातार कार्यवाही जारी। करीबन 16 प्रकरणों के करोड़ों के चिटफंड ठगी के मामले में दो सप्ताह के भीतर लगातार दुसरी बार आरोपी को गोंदिया महाराष्ट्र से किया गया गिरफ्तार।

 

🔸 जिले में आरोपी कंपनी द्वारा की गई लगभग 5 कड़ोर की ठगी

🔸 कंपनी के विरुद्ध जिले में 7 अपराध है दर्ज।

🔸 आरोपी कंपनी के द्वारा छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में लगभग 16 अपराध में करोड़ो की ठगी की गई है।

🔸 चिट फंड के मामले में बिलासपुर पुलिस की कार्यवाही लगातार जारी।

बिलासपुर।:छ0ग0 शासन की मंशा अनुरूप चिटफंड के प्रकरणो पर फरार आरोपीयो की गिरफतारी करने एवं निवेशको की धन वापसी की कार्यवाही हेतु जिले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर के द्वारा लगातार निर्देश दिये जा रहे है ।इसी के अंतर्गत चिंटफंड के नोडल अधिकारी  रोहित कुमार झा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण बिलासपुर के द्वारा विभिन्न कम्पनियों के विरूद्ध दर्ज चिटफंड के प्रकरणो में टीम गठित कर गिरफ्तारी की प्रयास किये जा रहे है। इसी के तहत पुलिस द्वारा जी.एन.गोल्ड के फरार आरोपीयो की पतासाजी हेतु गोंदिया महाराष्ट्र टीम रवाना किया गया था, जहा से आरोपी खेमेन्द्र बोपचे पिता नेतराम बोपचे उम्र 36 वर्ष सा0 बिरसी पो0 आमगांव जिला गोंदिया महाराष्ट्र को काफी मशक्कत के बाद पतासाजी कर थाना कोटा व सायबर सेल संयुक्त टीम के द्वारा दिनांक 15.12.2021 को बिलासपुर लाया गया ।जीएन गोल्ड कम्पन्नी के विरूद्ध बिलासपुर जिले में थाना कोटा तोरवा बिल्हा रतनपुर तखतपुर सरकंडा मस्तूरी बिल्हा में 07 प्रकरण एवं राज्य के अन्य जिले जिनमे धमतरी कोरबा सूरजपुर रायपुर दुर्ग बेमेतरा शामिल हैं में कुल 09 (कुल 16 ) अपराध दर्ज है। जिले में दर्ज अपराध में ग्राहकों से ठगी गई रकम लगभग 5 करोड़ रुपये है। थाना कोटा में दिनांक 01.04..2017 को लक्ष्मीकांत साहू पिता तुलसी राम साहू उम्र 29 वर्ष निवासी करगीकला थाना कोटा ने रिपोर्ट लिखवाई थी कि जी.एन. गोल्ड कम्पन्नी के संचालक सतनाम सिंह रधावा, शैलेद्र गोस्वामी, खेमेन्द्र बोपचे, तथा अन्य आरोपियां ने मिलकर 06 वर्ष में रकम दोगुनी करने का लालच देकर अन्य लोगो से करोडो रूपये जमा कराये एवं बदले में बांड भी दिया लेकिन जब पैसा वापसी का समय आया तो आफीस से ताला लगाकर सभी एजेंट व डायरेक्टर फरार हो गये, अपराध कायमी के बाद विवेचना करते हुये डायरेक्टर सतनाम सिंह रंधावा को गिरफतार कर प्रकरण मान न्यायालय में प्रस्तुत किया गया था, तथा शासन के मुख्य एजेंडा को ध्यान में रखते हुए जी0एन0गोल्ड कंपनी के आरोपी को दिसम्बर माह में ही पहले हरियाणा से नरेन्द्र सिंह को गिरफ्तार कर लाया गया दुसरी बार महाराण्ट्र गोंदिया से आरोपी खेमेन्द्र वोपचे को गिरफ्तार किया गया। फरार आरोपीयो में से 01 शैलेंद्र गोस्वामी की सम्पत्ती को कुर्क करने के लिये धमतरी कलेक्टर महोदय को पत्राचार किया गया है जिसकी प्रक्रिया जारी है । साथ ही आरोपियों से संपत्ति की जानकारी प्राप्त कर कुर्की कार्यवाही की प्रक्रिया की जाएगी । उक्त आरोपी की गिरफ्तारी कराने में सायबर सेल – निरीक्षक मोह.कलीम खान,  थाना कोटा प्रभारी दिनेश चन्द्रा, सउनि. ओंकार प्रसाद बंजारे ,  आर0 1351 आरक्षक अखिलेश पारकर ,  सायबर सेल-आरक्षक 1008 मुकेश वर्मा,  आरक्षक 1093 नवीन एक्का का भुमिका रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here