बिलासपुर ।कोटा कोविड मरीजों को स्थानीय स्तर पर तत्काल उपचार सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मात्र 10 दिनों के भीतर रतनपुर स्थित लखनी देवी मंदिर परिसर में 30 बिस्तरों का महामाया कोविड केयर सेंटर तैयार किया गया है। आज 13 मई 2021 से यह कोविड केयर सेंटर मरीजों के उपचार के लिए विधिवत शुरू कर दिया गया है। कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने आज सेंटर का जायजा लिया।उल्लेखनीय है कि कलेक्टर लगातार इस सेेनटर का निरीक्षण करते हुए आवश्यक निर्देश देते रहें। जिससे कम समय में कोरोना पीड़ित मरीजों के उपचार के लिए यह सेंटर तैयार हो पाया। कलेक्टर ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर ने सबको हैरान कर दिया। इसकी भयावहता का अंदाजा लगाना मुश्किल था। जिला अस्पताल एवं सिम्स में यहां के मरीजों को ले जाने में दिक्कत होती है। इन पहलुओं को ध्यान में रखते हुए हमनें रतनपुर में कोविड केयर सेंटर बनाने का निर्णय लिया। इसे मूर्तरूप देने में सभी का योगदान रहा है। जन सहयोग से ही यह संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में मस्तूरी एवं कोटा विकासखण्ड में भी इसी प्रकार कोविड केयर सेंटर शुरू कर लिया जायेगा। जिससे लोगों को स्थानीय स्तर पर ही उपचार मिल सके। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चैहान ने कहा कि लोगों को कोविड केयर सेंटर तैयार होने से राहत मिलेगी। शीघ्र उपचार की सुविधा के साथ-साथ समय की भी बचत होगी। उन्होंने सेंटर के लिए 21 हजार रूपए नगद राशि प्रदान की। कोविड केयर सेंटर में जनसहयोग से फ्रिज, वाशिंग मशीन, गीजर, एम्बुलेंस, एनआईव्ही मशीन, मोबाईल, डाॅक्टरों के रहने एवं भोजन जैसी व्यवस्थाएं की गई है।

इस दौरान महामाया देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री आशीष सिंह ठाकुर, नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष श्री घनश्याम रात्रे, एसडीएम श्री तुलाराम भारद्वाज, तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here