बिलासपुर । कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने आज जिले में संचालित कोविड केयर सेंटर और वैक्सीनेशन कार्य की समीक्षा की। उन्होंने कोविड मरीजों के उपचार पर संतुष्टि जाहिर करते हुए और बेहतर ईलाज सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने 18 से 44 वर्ष आयु वाले नागरिकों के कोविड-19 के वैक्सीनेशन की जानकारी लेते हुए इस बात पर प्रसन्नता जाहिर की कि लाॅकडाउन की अवधि में भी लोग उत्साह से वैक्सीनेशन करा रहे हैं।

मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कोविड वैक्सीनेशन एवं कोविड मरीजों के उपचार के संबंध में विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कोविड केयर सेंटर तथा डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों में मरीजों के उपचार की जानकारी ली। उन्होंने कोविड केयर सेंटर में मरीजों को दी जा रही चिकित्सा सुविधा पर संतुष्टि व्यक्त करते हुए कहा कि आने वाले समय में भी मरीजों को बेहतर उपचार देेने की व्यवस्था सुनिश्चित की जायें। कलेक्टर ने 18 से 44 वर्ष के हितग्राहियों के टीकाकरण की विकासखण्डवार एवं केन्द्रवार समीक्षा की। बैठक में बताया गया कि 10 मई तक कुल 11 हजार 796 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया हैं। जिसमें से अंत्योदय श्रेणी के 3 हजार 106, बीपीएल श्रेणी के 3 हजार 389, एपीएल श्रेणी के 5 हजार 131 एवं 170 फं्रटलाइन वर्कर शामिल है। उन्होंने सभी एसडीएम को फ्रंटलाइन वर्कर के लिए भी अनुविभाग में टीकाकरण प्रारंभ करने हेतु कार्ययोजना बनाने कहा। सभी एसडीएम एवं बीएमओ को लगातार टीकाकरण केन्द्र की माॅनिटरिंग करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने टीकाकरण केन्द्र में सोशल डिस्टेंसिंग, वैक्सिनेशन के लिए कोल्ड चैन की व्यवस्था, टीकाकरण के बाद प्रविष्टि का कार्य आदि सुचारू रूप से सुनिश्चित करने कहा। उन्होंने बीएमओ से कहा कि वैक्सिनेटर आरक्षित भी रखें, जिससे टीकाकरण का कार्य प्रभावित न हो। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वैक्सीनेशन के संबंध में अधिक से अधिक जानकारी आम लोगों तक पहुंचायें।बैठक में जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हेरिश एस, अपर कलेक्टर सुश्री नुपूर राशि पन्ना, नगर निगम कमिश्नर, सभी एसडीएम, तहसीलदार, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, सीएमओ, बीएमओ, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here