रायपुर – कोरोना संकट काल में स्थिति भयावह बनी हुई है, वहीं प्रतिदिन सैकड़ों लोगों की मौत का सिलसिला बदस्तूर जारी है। ऐसी स्थिति के बीच स्वास्थ्य विभाग की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है, जिसने प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर ही सवाल खड़े कर दिए। रायपुर के सरकारी अस्पताल मेकाहारा में पदस्थ चिकित्सकों ने एक जीवित बुजुर्ग महिला को मृत घोषित कर दिया। उस महिला का अंतिम संस्कार करने के लिए शमशान घाट ले जाया गया, चिता पर जब उसे लिटाया गया तब उसकी नब्ज़ चलती मिली।

दरअसल चिता पर चिकित्सक ने चेक किया तो बुजुर्ग महिला की पल्स चल रही थी यानि वो जीवित थी, जिसे वहां से उठाकर वापस हॉस्पीटल लाया गया। जानकारी के अनुसार, महिला राजधानी रायपुर के कुशालपुर की रहने वाली है, जिनकी उम्र 73 साल है। स्वास्थ्य विभाग की यह बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। इस लापरवाही का एक वीडियो वायरल हुआ है। राजधानी के सबसे बड़े हॉस्पिटल मेकाहारा में ज़िंदा महिला को मृत घोषित किया।शमशान घाट में चिता पर लिटाने पर पल्स चलती मिली। अर्थी से उठाकर वापस अस्पताल लाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here