भाजपाइयों से आग्रह किया कि वे प्रधानमंत्री से पूरे देश में कोरोना वैक्सीन प्रति ₹150 की समान दर से प्रदान करने के लिए कहें।

बिलासपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष  मोहन मरकाम के निर्देशानुसार आज 26 अप्रैल को कांग्रेस के प्रदेश/शहर और ब्लाक पदाधिकारियों ने भाजपा के स्थानीय सांसद व भाजपा नेताओं और मंडल अध्यक्ष को गांधीगिरी करते हुए गुलाब के फूल भेंट कर मांग की कि, जनभावनाओं के अनुरूप कोविड वैक्सीन्स की कीमत को केंद्र/राज्य और प्राइवेट हॉस्पिटल के लिए एक समान किया जाए। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष  अटल श्रीवास्तव ,शहर अध्यक्ष  प्रमोद नायक ,ज़िला पंचायत अध्यक्ष  अरुण सिंह चौहान ने बिलासपुर के सांसद  अरुण साव को गुलाब का फूल भेट कर कोरोना वैक्सीन की कीमत एक समान करने के लिए केंद्रीय नेतृत्व से बात करने का आग्रह किया। वहीं प्रदेश प्रवक्ता  अभय नारायण राय ,ब्लाक अध्यक्ष  मोती ठारवानी ,एम आई सी सदस्य परदेशी राज, पार्षद अब्दुल इब्राहिम ने नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष अशोक विधानी को और ब्लाक क्रमांक 01 के अध्यक्ष जावेद मेमन ,प्रदेश सचिव रविन्द्र सिंह, शहर सचिव प्रशान्त पांडेय ,युवा कांग्रेस के विनय वैद्य ने गांधीगिरी करते हुए भाजपा के जिला अध्यक्ष रामदेव कुमावत की धर्मपत्नी को और भाजपा के मंडल अध्यक्ष जुगल अग्रवाल को उनके निवास में जाकर उन्हें एक एक गुलाब के फूल दिये। और उन सभी से आग्रह किया कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से या कहें कि देश में पूरे देश में कोरोना वैक्सीन ₹150 प्रति डोज की समान दर से ही प्रदान की जाए। कांग्रेस नेताओं के मुताबिक इस दौरान भाजपा नेताओ ने दबे स्वर में इस बात को स्वीकार किया कि वैक्सीन्स की कीमत में इतनी असमानता नही होनी चाहिए। जबकि नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष श्री अशोक विधानी ने कहा कि आप लोगो की भावनाओ को ऊपर तक पहचाऊंगा । प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ,शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक ,ज़िला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान, प्रदेश सचिव रविन्द्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कोविड 19 के वीभत्स चेहरे पर भी व्यवसाय का अक्स ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं, और आपदा को अवसर में बदल कर उनके द्वारा हताश व बेबस जनता को 10 गुना और राज्य सरकारों को 3 गुना अधिक मूल्य पर वैक्सीन्स बेचने का निर्णय लिया गया है ,जबकि इस कोरोना काल मे मजबूर जनता जन–धन की हानि से और भविष्य की चिंता से वैसे ही ग्रसित है ,ऐसी प्रतिकूल स्थिति में मोदी सरकार जनता को लूट रही है। कांग्रेस नेताओं ने कहा..भाजपा कहती है कि एक देश एक संविधान.. तब एक ही देश में वैक्सीन्स की तीन अलग-अलग कीमतें क्यों? कांग्रेस ने कहा कि आपदा में केंद्र को नियम बनाने और अमल करने का अधिकार है। फिर भी नरेंद्र मोदी सरकार अपने हाथ खींचकर पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकारों पर डालकर विदेश को वैक्सीन्स बेचने में मशगूल रही। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सारी जिम्मेदारी राज्य सरकारों को दे दी है तो फिर 150 रुपये की दर से 50% वैक्सीन केंद्र को किंस लिए चाहिए..? क्योंकि केंद्र के पास जनता की जिम्मेदारी तो होती नही ,जनता तो राज्य सरकारों के अधीन है। इससे ऐसा लगता है कि नरेंद्र मोदी सस्ते में वैक्सीन लेकर अपने व्यवसायी मित्र, भाजपा के नेताओ के माध्यम से पृथक व्यापार करने पर आमादा है। जिस प्रकार गत दिनों वैक्सीन्स की कालाबाज़ारी में गुजरात के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पाटीला और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस की संलिप्तता उजागर हुई थी। ठीक वैसा ही कुछ होने वाला है । कांग्रेस ने मांग की कि प्रदेश के भाजपा नेता व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ,प्रदेश अध्यक्ष विष्णु साय घर मे तख्ती लेकर धरना न दें, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को, देश की गरीब जनता की परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए, पूरे देश में कोरोना वैक्सीन प्रति डोज 150 रुपये की समान दर से आपूर्ति करने के लिए बाध्य करें।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here