मनमोहन सिंह✍️

 

बिलासपुर। कोटा विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत उमरिया दादर के स्व सहायता समूह की महिलाओं ने अवैध शराब बिक्री के विरुद्ध मोर्चा खोल दिया है।महिलाओं की सक्रियता से 75 प्रतिशत गांव में सुधार हो चुका है। गांव को पूर्ण नशा मुक्त कर आदर्श ग्राम बनाने के लिए शराब बेचते पकड़े जाने पर कार्यवाही करने रतनपुर थाना प्रभारी को ज्ञापन सौंपा गया है।
गौरतलब है कि शराब,जुए की लत से बिखरते समाज को संगठित करने के उद्देश्य से अवैध शराब से छुटकारा दिलाकर नशा मुक्त आदर्श ग्राम बनाने स्व सहायता महिला समूह के साथ गैर सरकारी संगठन द्वारा चलाए जा रही अभियान कारगर साबित हो रही है।
ग्राम पंचायत उमरिया दादर की महिलाएं और पुरुष
लामबंद होकर बढ़ती अवैध शराब की बिक्री की नशे में धुत गांव के युवा वर्ग एवं पुरुष को नशे की गर्त से बाहर निकालने निरंतर प्रयास कर रहे हैं।जिसका बीते एक माह में ही असर दिखाई देने लगा है।नशाबंदी की मुहिम को अनवरत जारी रखते हुए आज गांव की सभी महिलाएं अपने -अपने घरों से निकलकर शराबियों और शराब बनाने वालों से दो-दो हाथ करती हैं।शराबबंदी की मिसाल पेश करती गांव की महिलाएं शराब बनाते पकड़े जाने पर ₹5000 का अर्थदंड भी करती हैं। जिसकी वजह से गांव में 75 प्रतिशत सुधार हो गया है। सौ प्रतिशत नशा मुक्त ग्राम के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए बचे हुए 25 प्रतिशत अवैध शराब बिक्री बंद करवाने में सहयोग प्रदान करने के लिए स्व सहायता समूह की महिलाओं ने रतनपुर थाना में आवेदन किया है। क्योंकि पूर्ण शराबबंदी किए जाने से अवैध शराब बेचने वाले एवं पीने वालों में हड़कंप मच गया है। जिससे कभी भी वाद-विवाद की स्थिति भी पैदा हो सकती है। जिससे बचने और गांव में शांतिप्रिय माहौल स्थापित करने शराब बिक्री करते समय पकड़े जाने के सूचना देने पर कार्यवाही करने मांग किया गया है। उक्त मामले पर राय जानने रतनपुर थाना प्रभारी से संपर्क किया गया लेकिन फोन रिसीव नहीं किया गया।

 

धड़ल्ले से हो रही अवैध शराब की बिक्री

ग्राम पंचायत ,,पुडू,रिगवार,चकरभाठा,सेकर,पचरा,खैरा,चपोरा,सेमरा सहित अंचल के लगभग सभी गांव में अवैध शराब बिक्री का कारोबार पांव पसारता जा रहा है। युवा पीढ़ी नशे की आगोश में आकर अपने भविष्य के लक्ष्य की प्राप्ति करने से भटक रहे हैं। जिसकी रोकथाम करने में पुलिस प्रशासन एवं आबकारी विभाग अवैध शराब की बिक्री के रोकथाम को लेकर फिसड्डी साबित हो रही है।

राधा बाई पैकरा ग्रामीण –

  • ग्राम में शराब बिक्री को बंद करना चाहते हैं।इससे छोटे-छोटे बच्चे और बुजुर्ग नशे की लत में आ रहे हैं। जिसकी शिकायत के लिए थाना आये हैं।
  • राम जी पैकरा ग्रामीण —

शराब बेचने और पीने वालों के विरुद्ध शिकायत करने थाना आए हैं। ग्रामीण महिलाओं की समझाइश की वजह से शराब खरीदी बिक्री पर 75 प्रतिशत पर सुधार हो गया है। समझाइश के बाद भी नहीं मानने पर थाना से सहयोग चाहते हैं।

  • सुखमनी मरावी ग्रामीण –

गांव में पुरुष बहुत ज्यादा शराब पीते हैं।गांव के दो चार लोगों को पकड़कर सभी महिलाओं के द्वारा अवैध शराब बिक्री बंद करने प्रयास किया जा रहा है। शराब बिक्री बंद करने के बाद भी नहीं मानने पर बेचने वाले को पकड़ा जाएगा।जिसकी कार्यवाही करने आवेदन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here