बिलासपुर। आज जब देश की सबसे पुरानी राष्ट्रीय पार्टी कांग्रेस बिलासपुर में कांग्रेस पार्टी का भवन निर्माण करने जमीन तलाश करने अनेक बाधाओं का सामना कर रही है ऐसे में एक नामी कांग्रेसी नेता के पोता ने दादा के नाम को अमर बनाए रखने कांग्रेस पार्टी को कांग्रेस भवन बनाने निःशुल्क जमीन दान करने की इच्छा जाहिर की है।

कांग्रेस नेता अपूर्व तिवारी ने आज मीडिया के समक्ष घोषणा कि है की उनकी पारिवारिक पृष्ठ भूमि सदैव कांग्रेस पार्टी को समर्पित रही। वही उन्होंने कहा कि मेरे दादा स्व.श्री पंडित रामगोपाल तिवारी जो सहकारिता पुरूष के रूप में विख्यात थे तथा वे पूर्व सांसद बिलासपुर व जांजगीर, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस कमेटी अविभाजित मध्यप्रदेश पूर्व अध्यक्ष नाफेड, एन.सी.यू.आई, एन.एफ.EC एवं सहकारिता मंत्री अविभाजित मध्यप्रदेश शासन के महत्वपूर्ण पदों में रहकर कांग्रेस पार्टी की पूरे निष्ठा व लगन के साथ जीवन भर सेवा प्रदान की है।

जैसा कि आप लोगों को विदित है बिलासपुर कांग्रेस कमेटी का भवन बनाने के लिए संगठन के द्वारा अभी तक दो स्थलों का चयन किया गया जिसमें क्रमशः सामुदायिक भवन तिलक नगर व पुराना बस स्टैण्ड बिलासपुर किन्तु किसी न किसी आपत्ति के कारण कांग्रेस कमेटी का भवन बनाने के लिए निश्चित स्थल का चयन नहीं हो सका है।

इसलिए कांग्रेस संगठन से मेरा निवेदन कि मेरे द्वारा स्व-अर्जित भूमि जो कि बिलासपुर रायपुर मेनरोड हाईटेक बस स्टैण्ड तिफरा मंडप्पम विवाह भवन के पास वार्ड नंबर 7 बिलासपुर नगर निगम में स्थित है अपने उक्त भूमि में से दस हजार वर्गफीट भूमि मैं अपनी स्वेच्छा से अपने दादा स्व. पंडित रामगोपाल तिवारी की स्मृति में नि:शुल्क तौर पर प्रदान करना चाहता हूं।
चूंकि हमारा परिवार कांग्रेस पार्टी से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से हमेशा उपकृत रहा है। अतः मैं अपने परिवार की ओर से बिलासपुर कांग्रेस भवन के निर्माण हेतु 10000 (दस हजार) वर्गफीट जमीन निःशुल्क प्रदान करने की पेशकश कर रहा हूं।

उन्होंने कहा कि मुझे आशा ही नहीं बल्कि पूरा विश्वास है कांग्रेस संगठन को मेरा प्रस्ताव सहर्ष स्वीकार्य होगा।

मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा की जमीन के पीछे मेरा कोई लालच नही है और न ही टिकिट पाने की मंशा,बल्कि मैं चाहता हु की कांग्रेस भवन बन जाये और मेरे दादा का नाम हमेशा लोगो की जुबान पर रहे।

इधर अपूर्व तिवारी ने यह भी कहा कि प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा शहर बिलासपुर है और कांग्रेस भवन भी भव्य और श्रेष्ठ होना चाहिए। इसी वजह से कांग्रेस संगठन के सहमति और निर्देश के बाद दादा उक्त भूमि के दादा जी के नाम से कांग्रेस पार्टी को दान में दिया जाएगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here