संवाददाता- रोहित साहू 

बिलासपुर जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान ने अपने क्षेत्र कोटा के अंतर्गत आने वाले दूरस्थ आदिवासी ग्राम बेलगहना और करगी कला में महाविद्यालय खोलने की मांग उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल जी से की है।

सीमित सीट उपलब्धता के कारण प्राइवेट महाविद्यालय व बिलासपुर जाकर अध्ययन करने पर मजबूर हैं बच्चे।

उल्लेखनीय है कि कोटा क्षेत्र में केवल कोटा और रतनपुर महाविद्यालय ही संचालित है और बेलगहना एवं करगीकला जहां की क्षेत्र की सर्वाधिक आदिवासी जनसंख्या निवासरत है।क्षेत्र में हजारों बच्चे प्रतिवर्ष महाविद्यालय में प्रवेश लेते हैं।शासकीय महाविद्यालयों में सीमित सीट उपलब्धता के कारण प्राइवेट महाविद्यालय एवं बिलासपुर जाकर अध्ययन करने पर मजबूर हैं।

उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने जल्द मांग पूरा कराने का दिया भरोसा।

जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान ने बताया कि मेरी स्वयं की शिक्षा कोटा क्षेत्र में हुई है जिला पंचायत अध्यक्ष होने के नाते लगातार क्षेत्र के दौरे में रहता हूं इस दौरान मुझे जनप्रतिनिधियों पालको एवं छात्र छात्राओं द्वारा महाविद्यालय खुलवाने की मांग की जा रही थी इसी परिपेक्ष में हमने उच्च शिक्षा मंत्री जी से करगीकलां और बेलगहना में महाविद्यालय खोलने की मांग की है हमने कोटा क्षेत्र में आगामी समय में कृषि महाविद्यालय आईटीआई एवं पॉलिटेक्निक महाविद्यालय खोलने की संभावना माननीय मंत्री जी को बताई है।मंत्री जी ने इस पर जल्द ही कार्यवाही करवाने का आश्वासन दिया है।

#thebilasatimes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here