बिलासपुर – मस्तूरी विकासखण्ड के ग्राम पंचायत वेद परसदा की महिलाओं नेे समूह बनाकर सब्जी उत्पादन का कार्य शुरू किया है। जिससे न केवल उन्हें अतिरिक्त आय हो रही है अपितु उनका आत्मविश्वास भी अब बढ़ने लगा है।
प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना के अंतर्गत श्री राधाकृष्ण स्व सहायता समूह की महिलाएं सब्जियों की खेती कर अपनी आर्थिक गतिविधियों को बढ़ा रही है। समूह की अध्यक्ष श्रीमती ललिता पटेल ने बताया कि हमारे समूह में 10 महिला सदस्य है। सब्जी उत्पादन कार्य करने की प्रेरणा हमें पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने दी। उन्होंने हमें समूह से जुड़कर आर्थिक लाभ लेने के संबंध में विस्तृत प्रशिक्षण एवं जानकारी दी। श्रीमती पटेल ने बताया कि पहले हम लोगों को इस कार्य के संबंध में संदेह था कि हमलोग कैसे इस कार्य को कर पाएंगे लेकिन अधिकारियों द्वारा लगातार हमें प्रोत्साहित किया गया। उनके प्रोत्साहन का ही परिणाम है कि आज हम सफलतापूर्वक इस कार्य को कर पा रहे हैं।
राधाकृष्ण समूह की सचिव श्रीमती पुष्पा साहू ने बताया कि हमलोग 1.5 एकड़ में सब्जी उत्पादन कर रहे है। हमनें बाड़ी में गोभी, टमाटर, मूली, बैगन, भिंडी, बर्रे भाजी एवं तिवरा भाजी लगाया है। पिछले वर्ष हमें इन सब्जियों को बेचने से 5 हजार की अतिरिक्त आमदनी हुई थी। इस वर्ष इससे भी अधिक आमदनी होने की उम्मीद है। समूह की महिलाएं कहती हंै कि सुराजी योजना से हम महिलाओं को आय का नया जरिया मिला है। आर्थिक रूप से सक्षम होने से हमंे परिवार चलाने में भी सहायता मिल रही है। भविष्य में भी हम अपनी आर्थिक गतिविधियों का विस्तार कर पायेंगे।
चारागाह विकास
महिला समूहों ने 5 एकड़ में पशु विभाग की मदद से चारागाह विकास का कार्य भी किया है। 2.5 एकड़ में नेपियर घास लगाया है। चारागाह विकास से भी उन्हें अतिरिक्त आमदनी हुई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here